(1)project; house 🏘️ out

side get on the 🌧️ rain saved

GI fitting:

[Project }

GI seat ko हॉस्टल के ऊपर गेट की , 🌧️ rain

saved होने के लिए,

अपार बेटा ना है..

Name “Shankar khillo

Section=workshop

Planning ; आज मेरा को,हॉस्टल की पीछे गेट के ऊपर उसमें हमको गेलवेनाइज्ड सीट को फिटिंग करना है।। फिटिंग करने से पहले हम उसकी 2 साइड की मापन लिया उसके बाद उसी के हिसाब से हमको, l angles कि, साइड सीट की स्टैंड बना लिया, और उसकी बात बिल्डिंग की छत कि उपर गेट की wall 🧱 ko ग्राइंडिंगWहील मिसिंग से wall ko ग्राइंडिंग व्हील्स cutting ,, करके उसके बाद उसकी हिसाब से हमको गेट ऊपर वालों की अंदर की गहरा को 5 इंच में अंदर किया और और हमारा गेलवेनाइज सीट कितना अंदर बैठता है उसके लिए गेलवेनाइज्ड शीट को, उसके हिसाब से कटिंग करके उसको हम बेटा लिया।।।

Necessary: गेलवेनाइज्ड शीट,l angles material, ग्राइंडिंग मशीन टूल्स, ड्रिल मशीन, carpenter plywood, self screw ,drill bit, drill machine, cutting wheel grinding machine, bol pen Hamar, colour, primer colour, red oxides, 2 lander,ll

प्रक्रिया;

(!!)GI, galvanized iron seat 🧇 उपयोग करने का हैं;

आज हमको इसको, गेलवेनाइज सीट को, मार्किंग की हिसाब से कोटिंग करके हम इसको पेंटिंग करना और उसी के हिसाब से।। और उसके बाद, दोनों साइड की सीट गेलवेनाइज की स्टैंड का उसी की सबसे नीचे हमको ड्रिल बिट से ड्रिल करना और सेल्फिश स्क्रू बेटा ना है।

(!!!)L angles material उपयोग कैसे करना है और किसी हिसाब से स्टैंड बनाना है।

आज हमको पहले, मापन की सबसे बना हुआ गेलवेनाइज्ड शीट की, मापन की हिसाब से। L angle मटेरियल को कोटिंग करके उस कोड सेंट्रल देने मशीन से दूर करके, और उसके बाद, welding करना है।।

गेट की दो साइड को, सीट को पकड़ने के लिए स्टैंड बना लिया, इसको पहले हम मार्किंग करके कोटिंग किया और उसके बाद, सेंट्रल ड्रिल मशीन से ड्रिल करके stand के लिए, और उसके बाद इसको हम वेल्डिंग मशीन से वेल्डिंग करके , स्टैंड की काम हुआ है कि जय सीट की वजन पकड़ने के लिए और, उसका तेज हुआ बारिश को पकड़ने के लिए और अंदर जाने के लिए नहीं देना है उसी की वजह से इसको हम जैसी बेटा ही लिया ll

(!!!)GI seat को kyon Laga ja raha hai ;

जब बारिश होने टाइम में, बारिश जब तेज से आती है, तेज से आने की वजह से, बारिश की पानी रूम के अंदर तेज से जा रहा था, इसकी रक्षा व जी से, और अंदर पानी नहीं जाने के लिए इस जी आई सीट को बेटा दिया हूं ll

GI seat कैसे उपयोग करना है l।,

पहले गेट की दोनों साइड की स्टैंड लगा हुआ, और उसके बाद जीआईसीटी को, बेटा दिया और, डेट आने के बाद नीचे ऊपर स्टैंड और दिल बना इसको समान भाई समान मैचिंग करके। इस मार्किंग कि हिसाब से , ड्रिल बिट ड्रिल करना और, ड्रिल होने के बाद हुक नोट को टाइट करना है जैसे की टाइट से पकड़ लेता है।। और जी आई gi seat को, दीवाल के अंदर 5 इंच डाला गया है अंदर में, और उसके फिटिंग होने के बाद,, सीमेंट से गोला बनाकर, दीवाल के अंदर गया सीट को, सीमेंट लगाकर पीनर्सिंग कर लिया हूं ll

End conversation;

और सब कुछ काम होने के बाद, जो चीज हमको जैसी को बनाने के लिए और उसके ऊपर बैठाने के लिए उपयोग हुआ था उस टूल्स को वापस वर्कशॉप में ला के रख दिया हूंll